Home » Application Process » जेईई मेन 2020 डमिट कार्ड (जारी), परीक्षा तिथियां, परिणाम और क्या 2021 जनवरी में होगी जेईई मेन की परीक्षा?

जेईई मेन 2020 डमिट कार्ड (जारी), परीक्षा तिथियां, परिणाम और क्या 2021 जनवरी में होगी जेईई मेन की परीक्षा?

Last updated on August 24th, 2020 at 12:04 pm

जेईई मेन परीक्षा की तैयारी कर रहे हजारों छात्रों का इंतजार अब खत्म हो गया है। सुप्रीम कोर्ट से मिली हरी झंडी के बाद नेशनल टेस्टिंग एजेंसी यानी एनटीए ने JEE Main 2020 के लिए एडमिट कार्ड जारी कर दिए हैं। ये एडमिट कार्ड जेईई एनटीए की आधिकारिक वेबसाइट पर जारी किए दए हैं। इसके लिए छात्र jeemain.nta.nic.in पर जाकर अपना एडमिट कार्ड डाउनलोड कर सकते हैं। ध्यान देने वाली बात है कि 3 जुलाई, 2020 को मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल ने जेईई मेन 2020 के लिए तारीख और समय निर्धारित किया था। साथ ही बताया गया था कि उम्मीदवारों को जेईई परीक्षा परीक्षा केंद्र में प्रवेश के लिए एडमिट कार्ड के साथ एक मूल पहचान प्रमाण लाना अनिवार्य होगा।

क्या है परीक्षा का शेड्यूल?

निर्धारित समय के अनुसार JEE Main 2020 की परीक्षाएं 1 से 6 सितंबर 2020 के बीच होगी। एनटीए के मुताबिक परीक्षा को शिफ्ट में बांटा गया है। इसके आधार पर पहली शिफ्ट में परीक्षा सुबह 9 बजे से लेकर 12 बजे तक होगी तो वहीं दूसरी शिफ्ट की परीक्षा दोपहर 3 बजे से लेकर शाम 6 के बीच पूरी की जाएगी। गौरतलब है कि कुछ दिन पहले तक परीक्षा को लेकर दुविधा की स्थिति बनी हुई थी। वो इसलिए, क्योंकि देशभर में कोविड-19 महामारी के चलते कई बड़ी परीक्षाओं की तारीख आगे बढ़ा दी गई तो कई परीक्षाएं रद्द भी की गई हैं। इसी को लेकर छात्रों ने सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दर्ज कर परीक्षा को तय समय पर करवाने की मांग की थी। इस पर सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई करते हुए JEE Main 2020 को समय के अनुरूप कराने का आदेश दिया। कोर्ट ने अपने आदेश में कहा कि छात्रों का साल बर्बाद नहीं कर सकते लिहाजा परीक्षा को समय पर पूरा किया जाए। इसके बाद ही एनटीए ने छात्रों के एडमिट कार्ड जारी किए हैं।

Must Check:- 

जेईई मेन 2020 से जुड़ी महत्वपूर्ण तारीख

जेईई मेन पंजीकरण 2020 19 मई, 2020
जेईई मेन पंजीकरण (बंद) 24 मई, 2020
जेईई मेन एप्लीकेशन फॉर्म सुधार 24 जुलाई, 2020
जेईई मेन एप्लीकेशन फॉर्म सुधार (बंद) 31 जुलाई, 2020
जेईई मेन 2020 का एडमिट कार्ड जारी 17 अगस्त, 2020 (आउट)
जेईई मेन 2020 परीक्षा तिथियां 1 – 6 सितंबर, 2020

कैसे डाउनलोड करें एडमिट कार्ड?

एनटीए ने अपनी वेबसाइट पर छात्रों के एडमिट कार्ड तो जारी कर दिए हैं लेकिन कई छात्रों के मन में सवाल आता है कि एडमिट कार्ड को डाउनलोड कैसे किया जाए तो हम आपको बता दें कि इसके लिए आपको सबसे पहले जेईई एनटीए की आधिकारिक वेबसाइट आधिकारिक वेबसाइट jeemain.nta.nic.in पर जाना होगा। इसके बाद बेवसाइट के होमपेज पर जाएं और JEE main Admit card लिंक पर क्लिक करें। इसके बाद एक नया पेज खुलेगा, जिसके खुलने के बाद आपसे आपका रजिस्ट्रेशन नंबर और पासवर्ड मांगा जाएगा। यह जानकारी डालकर नीच दिए गए सबमिट (Submit) बटन पर क्लिक करें और इस तरह आप अपना ए़डमिट कार्ड डाउनलोड कर सकते हैं। बाकी जानकारी इस प्रकार हैं-

JEE मेन एडमिट कार्ड डाउनलोड के लिए किसी भी दो लिंक पर क्लिक करें – अप्रैल / सितंबर 2020
लॉगिन करने के लिए अपना “एप्लीकेशन नंबर और जन्म तिथि” डालें।
COVID-19 के बारे में जानकारी देनी होगी।
इसके बाद ‘डाउनलोड एडमिट कार्ड’ पर क्लिक करें
इसके आखिर में ही जेईई मेन प्रवेश पत्र डाउनलोड किया जाएगा।
जेईई मेन एडमिट कार्ड 2020 में सुधार कैसे करें

अपने एडमिट कार्ड में बताए गए सभी विवरणों को क्रॉसचेक यानी जांच जरूर करें और अगर आपको अपने एडमिट कार्ड में दिए गए विवरणों में कोई गलती या विसंगति दिखती है, तो निर्धारित समय से पहले [email protected] को एक मेल छोड़ करें। इसके बाद JEE मेन हेल्पलाइन जल्द ही लाइव और सक्रिय होकर आपकी एडमिट कार्ड में मौजूद गलती में सुधार किए जाए। कार्ड में सुधार के लिए इस तरह से संपर्क किया जा सकता है-

  • Contact Numbers: +7042399520, 7042399521, 7042399525, 7042399526
  • Email: [email protected]
  • Official Website: jeemain.nta.nic.in
  • Address: National Testing Agency
  • Block C-20 1A/8 ,Sector- 62
  • IITK Outreach Centre, Gautam Buddh Nagar
  • Noida-201309, Uttar Pradesh (India)

अपना JEE Main लॉगिन आईडी या पासवर्ड भूलने पर क्या करें?

ऐसा सबके साथ तो नहीं लेकिन किसी-किसी के साथ संभव है कि वो अपना लॉगिन आईडी या पासवर्ड भूल जाए। लेकिन इस स्थिति में भी घबराने की जरूरत नहीं। इसके लिए कुछ दिए गए चरणों का पालन कर सकते हैं-

JEE Main Admit card releases on jeemain.nic.in, download here

आवेदन संख्या निम्नलिखित चरणों के माध्यम से प्राप्त की जा सकती है:

  • साइन इन पेज पर जाएं और ” फॉर्गेट एप्लिकेशन ” पर क्लिक करें
  • इसके बाद एक नया पेज खुलेगा जिसमें आपको दो विकल्प दिखाई देंगे। जैसे कि – “एप्लिकेशन नंबर खोजें”
  • एप्लिकेशन नंबर खोजें पर क्लिक करने के बाद आपको कुछ अहम जानकारी दर्ज करनी होगी जैसे:
  • उम्मीदवार का नाम
  • माता का नाम
  • पिता का नाम
  • जन्म की तारीख
  • सिक्योरिटी पिन

जेईई मेन फोटो का आकार

छवि फ़ाइल आकार आयाम फ़ाइल स्वरूप
फोटोग्राफ (नाम और फोटो लेने की तारीख के साथ) 10 केबी से 200 केबी 3.5 सेमी x 4.5 सेमी जेपीईजी / जेपीजी
उम्मीदवार का हस्ताक्षर 4 kb से 30 kb 3.5 सेमी x 1.5 सेमी जेपीईजी / जेपीजी

आवेदन संख्या आपको भेज दी जाएगी और आप अपने एडमिट कार्ड को डाउनलोड करने के लिए उसी का उपयोग कर सकते हैं।उम्मीदवार अपने जेईई मुख्य पासवर्ड को दोबारा पाने के लिए नीचे दिए गए चरणों का पालन कर सकते हैं:

आपको साइन इन पेज पर बायीं (left) ओर नीचे की ओर “पासवर्ड भूल गए (forget password)” पर क्लिक करना होगा।

खुलने वाली नई विंडो यानी नए पेज में दो विकल्प दिखाई देंगे – “आपके पासवर्ड को रीसेट करने के लिए विकल्प मिलेगा”। इसके बाद आपको अपना पासवर्ड रीसेट करने का तरीका चुनना है:

  • पंजीकृत यानी रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर के जरिए एक मैसेज (एसएमएस) के माध्यम से भेजे गए सत्यापन कोड का उपयोग करें
  • ईमेल के माध्यम से पंजीकृत ईमेल आईडी पर भेजे गए रीसेट लिंक का उपयोग करें
  • पासवर्ड रीसेट करने का लिंक आपके द्वारा चुने गए विकल्प के आधार पर आपको भेजा जाएगा।

आपको अपने एडमिट कार्ड को डाउनलोड करने के लिए पासवर्ड और एप्लिकेशन नंबर की आवश्यकता है ताकि भविष्य के संदर्भ के लिए विवरणों को सहेज सकें।

जेईई मेन 2020 – परीक्षा दिवस दिशानिर्देश

एडमिट कार्ड मिलने बाद परीक्षा केंद्र पर पहुंचने वाले उम्मीदवारों को परीक्षा के निर्देशों का पालन करना होगा जो उनके जेईई मेन 2020 के एडमिट कार्ड में दिए गए हैं। जेईई मेन 2020 ड्रेस कोड और परीक्षा दिन निर्देश देखें-

  • उम्मीदवारों को परीक्षा शुरू होने से कम से कम दो घंटे पहले परीक्षा केंद्र पर पहुंचना जरूरी है।
  • अभ्यर्थियों से अनुरोध किया जाता है कि अव्यवस्था से बचने के लिए परीक्षा से पहले परीक्षा केंद्र के स्थान पर जाएं।
  • उम्मीदवारों को सभी आवश्यक वस्तुओं को लाना चाहिए जो परीक्षा केंद्र तक ले जाने के लिए जरूरी हैं।
  • उम्मीदवारों को परीक्षा केंद्रों पर अपने साथ कोई निषिद्ध वस्तु नहीं लानी चाहिए।
  • उम्मीदवारों को परीक्षा के संबंध में किसी भी अनुचित साधन में शामिल नहीं होना चाहिए।

Check JEE Main Exam day Instructions

कैसा होगा सिंतबर में होने वाली जेईई मेन परीक्षा का पैटर्न ?

JEE main एग्जाम में अब कुछ दिन ही बाकी है। ऐसे में छात्रों को यह भी जानना जरूरी है कि परीक्षा का पैटर्न कैसा होगा जिससे उनकी तैयारी तो बेहतर होगी। साथ ही साथ छात्रों को अधिक से अधिक अंक या नंबर लाने में भी मदद मिलेगी। पैटर्न को देखा जाए तो जेईई मेन 2020 में बी. प्लानिंग के लिए एक अलग पेपर पेश किया गया है। इसलिए, इस साल से जेईई मेन B.E / B.Tech, B. Arch और B. प्लानिंग के लिए 3 अलग-अलग परीक्षा आयोजित की जाएगी। इसके साथ ही जेईई मेन 2020 के पेपर पैटर्न में न्यूमेरिक वैल्यू आंसर आधारित प्रश्न जोड़े गए हैं।

Check JEE Main Exam Pattern in Detail

वहीं, पिछले साल 3 सितंबर, 2019 को आयोजित हुई परीक्षा की तुलना में इस साल जेईई मेन 2020 के लिए आधिकारिक तौर पर इस बार का परीक्षा पैटर्न निर्धारित किया गया। इसके तहत परीक्षा पैटर्न को प्रश्नों और अंकों के आधार पर योजनाबद्ध तरीके से तैयार किया है। साफ शब्दों में समझाए तो पेपर-1 पूरी तरह से कंप्यूटर-आधारित होगा जिसमें MCQ और भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान और गणित के संख्यात्मक-प्रकार के साथ कुल 300 अंकों के प्रश्न होंगे। इसके अलावा बी. आर्क और बी. योजना पत्रों में गणित और एप्टीट्यूड सेक्शन (अभिरुचि खंड) के साथ सामान्य रूप से तीसरे सेक्शन के ड्रॉइंग और प्लानिंग आधारित प्रश्न शामिल होंगे।

JEE Main 2020 प्रश्न पत्र: B.E / B.Tech प्रश्न पत्र में 300 अंकों के कुल 75 प्रश्न होंगे, जिसमें प्रति विषय 25 प्रश्न होंगे और इसमें भौतिकी, रसायन विज्ञान और गणित विषय से जुड़े प्रश्न शामिल हैं। सभी 3 पेपरों के पेपर पैटर्न में न्यूमेरिकल वैल्यू आधारित प्रश्न जोड़े गए हैं। बी. आर्क पेपर में 400 अंकों के लिए कुल 77 प्रश्न होंगे तो वहीं, बी. प्लानिंग (B. Planning) के प्रश्न पत्र में 400 अंकों के लिए 100 प्रश्न शामिल होंगे।

JEE main 2020 मार्किंग स्कीम: MCQs और न्यूमेरिक वैल्यू आंसर आधारित प्रश्नों में सही उत्तर 4 अंकों के साथ दिए जाएंगे। इसके साथ हर गलत MCQ उत्तर या जवाब के लिए 1 अंक की कटौती की जाएगी। संख्यात्मक मूल्य उत्तर आधारित प्रश्नों और बिना पढ़े प्रश्नों में गलत जवाब या उत्तर के लिए कोई नकारात्मक कटौती नहीं की जाएगी। बी. आर्क पेपर में ड्राइंग टेस्ट में 50 अंकों के लिए 2 प्रश्न होंगे।

जेईई मेन परीक्षा की अवधि: बी.ई. / बी.टेक, बी। आर्क और बी. प्लानिंग पेपर सभी 3 घंटे की अवधि के होंगे। उम्मीदवार B. Arch और B. योजना दोनों के लिए बैठ सकते हैं। ऐसे में परीक्षा की कुल अवधि 3 घंटे 30 मिनट यानी साढ़े तीन घंटे की होगी।

प्रश्न पत्र का माध्यम: प्रश्न पत्र सभी जेईई मुख्य परीक्षा केंद्रों के लिए अंग्रेजी और हिंदी में उपलब्ध होगा। गुजरात, दमन और दीव और दादरा और नगर हवेली के केंद्रों में भी गुजराती का विकल्प भी होगा।

Must Check

जेईई मेन 2020 सिलेब्स

JEE Main 2020 इस साल 3 पेपरों में आयोजित किया जाएगा- B.E / B. Tech, B. Arch, B. Planning। NTA ने सभी 3 पेपरों के लिए आधिकारिक JEE मेन 2020 सिलेबस जारी कर दिया है।

जेईई मेन के लिए पेपर 1 का सिलेबस फिजिक्स, केमिस्ट्री और मैथमेटिक्स के विषयों को कवर करेगा। जेईई मेन 2020 के लिए पेपर 2 का सिलेबस एप्टीट्यूड, ड्रॉइंग और मैथमेटिक्स के विषयों को कवर करता है। जबकि पेपर 3 के लिए गणित, योग्यता और योजना आधारित प्रश्नों के विषय होंगे। जेईई मेन सिलेबस 2020 के बारे में जागरूकता से आवेदकों को विषयवार तैयारी और उनकी ताकत और कमजोरियों की पहचान करने के लिए आदर्श दृष्टिकोण से अच्छी तरह वाकिफ कराया जा सकेगा।

राष्ट्रीय स्तर की परीक्षा केवल ऑनलाइन (कंप्यूटर आधारित) मोड में आयोजित की जाएगी। उम्मीदवार जेईई मेन 2020 के एक या सभी 3 पेपर का विकल्प चुन सकते हैं। परीक्षा की अवधि 3 घंटे है। 40% विकलांगता वाले उम्मीदवारों को 1 घंटे का प्रतिपूरक समय दिया जाता है। यदि आप B. Arch और B. योजना दोनों लेना चाहते हैं, तो परीक्षा की अवधि 3 घंटे 30 मिनट की होगी।

जेईई मेन 2020 केमिस्ट्री सिलेबस

भौतिकी और गणित की तरह, रसायन विज्ञान पेपर 1 के एक तिहाई का गठन करता है यानी प्रश्न पत्र में संख्यात्मक और सिद्धांत-आधारित दोनों प्रश्न होंगे। यहाँ रसायन विज्ञान पाठ्यक्रम में विषयों का विराम दिया गया है:

सेक्शन ए: भौतिक रसायन विज्ञान
सेक्शन बी: अजैविक रसायन विज्ञान
सेक्शन सी: जैविक (ऑर्गेनिक) रसायन विज्ञान


Check JEE Main Chemistry Syllabus in Detailकुछ विषयों को वर्षों से पसंदीदा बनाया गया है और उन्हें अन्य विषयों की तुलना में अधिक समय और प्रयास दिया जाना चाहिए। एग्जाम में अपने अपेक्षित वेटेज के साथ जेईई मेन के केमिस्ट्री सिलेबस से ऐसे विषयों की सूची दी गई है।

महत्वपूर्ण विषय

कार्बोहाइड्रेट, अमीनो एसिड और पॉलिमर 7%
संक्रमण तत्व और समन्वय रसायन विज्ञान 9%
आवर्त सारणी और प्रतिनिधि तत्व 6%
सामान्य कार्बनिक(ऑर्गेनिक) रसायन विज्ञान 6%
रासायनिक संबंध 6%
परमाणु संरचना 5%

Check JEE Main Preparation Tips for chemistry

जेईई मेन महत्वपूर्ण पुस्तकें – रसायन विज्ञान

चूँकि जेईई मेन में केमेस्ट्री सेक्शन में बहुत सारे कांसेप्ट-बेस्ड प्रश्न होते हैं, इसलिए परीक्षा पैटर्न और सैद्धांतिक अवधारणाओं की गहन समझ के लिए पुस्तकों की मदद करना उचित होगा।

पुस्तक का शीर्षक लेखक
भौतिक रसायन विज्ञान (Physical Chemistry) ओ.पी. टंडन
न्यूमेरिकल केमिस्ट्री(Numerical Chemistry) पी बहादुर
न्यूमेरिकल केमिस्ट्री का आधुनिक दृष्टिकोण(Modern Approach to Numerical Chemistry) आरसी मुखर्जी
ऑर्गेनिक केमिस्ट्री(Organic Chemistry) पाउला ब्रूस युरकानिस
ऑर्गेनिक केमिस्ट्री(Organic Chemistry) ओ.पी. टंडन

जेईई मेन 2020 भौतिकी सिलेबस

भौतिकी परीक्षा में कुल 25 प्रश्नों का योगदान देता है। पाठ्यक्रम को मोटे तौर पर निम्नलिखित 5 वर्गों में विभाजित किया जा सकता है:

Section A – Theory

Section B – Practical

भौतिकी के पाठ्यक्रम में कुछ विषय हैं जो वर्षों से जेईई मेन परीक्षा की नियमित विशेषता रहे हैं। छात्रों को पहले सबसे अधिक वेटेज वाले ऐसे अध्यायों को अपना टार्गेट यानी लक्ष्य तय करना चाहिए। यहां उन विषयों की एक सूची दी गई है, जिनके जेईई मेन 2020 में अधिकतम भार होने की उम्मीद है।

महत्वपूर्ण विषय अपेक्षित भार
ऊष्मा और ऊष्मागतिकी (Heat and Thermodynamics) 11%
प्रकाशिकी (Optics) 11%
आधुनिक भौतिकी (Modern Physics) 10%
इलेक्ट्रोस्टाटिक्स (Electrostatics) 8%
विद्युत या बिजली (Current and Electricity) 7%
तरंग (Waves) 5%

Check JEE Main Syllabus for Physics in Detail

जेईई मेन 2020 का गणित सिलेबस

प्रभावी तैयारी के लिए उम्मीदवारों को गणित के पाठ्यक्रम की गहन समझ होनी चाहिए। प्रत्येक सही उत्तर के लिए 4 अंक दिए जाएंगे और प्रत्येक गलत उत्तर के लिए 1 अंक काटे जाएंगे। गणित के लिए पाठ्यक्रम अपेक्षाकृत आसान और कठिन विषयों का एक संयोजन है। जेईई मेन परीक्षा के सबसे महत्वपूर्ण खंड की ओर विषय वेटेज के अनुसार व्यवस्थित दृष्टिकोण, देश के शीर्ष इंजीनियरिंग संस्थानों में पढ़ने का मौका दे सकता है।

अधिकांश परीक्षार्थियों के अनुसार 25% प्रश्न आसान, 25% कठिन और बाकी 50% मध्यम कठिनाई स्तर के होते हैं। जेईई मेन गणित के सिलेबस से निपटने के दौरान हमने उम्मीदवारों की सहायता के लिए कई पहलुओं को कवर किया है। गणित के यूनिट वार सिलेबस, विषयवार वेटेज, गणित स्कोर अधिकतम करने और प्रश्न हल करने के टिप्स के लिए लेख पढ़ें।

बीजगणित (Algebra) को प्राथमिकता दें: चूंकि ये दो विषय जेईई मुख्य प्रश्न पत्र के एक प्रमुख हिस्से में योगदान करते हैं, इसलिए उम्मीदवारों को अभ्यास और किसी भी प्रकार के संदेह स्पष्टीकरण के माध्यम से उनके साथ होना चाहिए।

बीजगणित जेईई मुख्य गणित के पाठ्यक्रम का सबसे आसान और सबसे स्कोरिंग बिट में से एक है। इस सेक्शन से निपटने के लिए सभी उम्मीदवारों को मूल बातें और एक कम्प्यूटेशनल गति पर स्पष्टता की आवश्यकता है। बीजगणित के प्रश्नों को अधिकतर अन्य इकाइयों के साथ जोड़ा जाता है और इसलिए बीजगणित को कवर करना बाकी की तैयारी में सहायता करेगा।

गणना आधुनिक गणित के सबसे बड़े वर्गों में से एक है, इसके दो मुख्य खंड या सेक्शन हैं – विभेदक और अभिन्न कलन (Differential and Integral Calculus)। प्रश्न दोनों तरीकों से पूछे जा सकते हैं अर्थात् सिद्धांत और अनुप्रयोगों पर आधारित (theory and applications)।

टैकलिंग कोऑर्डिनेट ज्योमेट्री: यह देखते हुए कि इस विषय के अधिकांश प्रश्न फॉर्मूला आधारित हैं, यह कुछ के लिए सबसे आसान सेक्शन के रूप में सामने आ सकता है। हालांकि, किसी को इस अनुभाग को हल्के में नहीं लेना चाहिए, इस विषय में मूर्खतापूर्ण गलतियों से बचने के लिए बहुत अभ्यास की आवश्यकता है।

सभी फॉर्मूलों का अध्ययन करें और एक सूची तैयार करें: गणित में फॉर्मूलों पर एक मजबूत पकड़ परीक्षा में एक बड़ा फायदा है। उम्मीदवारों को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि उनके पास ज्यामिति, त्रिकोणमिति, प्रायिकता और निश्चित रूप से कैलकुलस के सभी फॉर्मूलों पर स्पष्टता है। तैयारी की अवधि के दौरान, वे संशोधन के समय के लिए सूत्रों की एक सूची बना सकते हैं।

अवधारणाओं का अनुप्रयोग: उम्मीदवारों को ज्यामिति और अंतर समीकरणों के अनुप्रयोगों को संशोधित करना चाहिए। यह निश्चित अभिन्न के गुणों और शंकु के गुणों के बीजीय गणना के परिणामों के लिए लागू होता है। इन आवेदनों का पूरी तरह से संशोधन जेईई मेन परीक्षा के दिन से पहले किया जाना चाहिए।

पिछले वर्ष के प्रश्न पत्र और मॉक टेस्ट: इससे पहले कि आप अपनी तैयारी की योजना बनाएं, पिछले वर्ष के प्रश्न पत्रों और मॉक टेस्ट पर एक नज़र डालें जिससे आपकी योजना सही दिशा में आगे बढ़ सके।

सटीक संदर्भ सामग्री: अपनी तैयारी शुरू करने से पहले, सुनिश्चित करें कि आप जिस संदर्भ सामग्री का उपयोग कर रहे हैं वह सटीक है। सभी पुस्तकों को कवर करने पर ध्यान केंद्रित न करें, आपके पास अवधारणाओं और अभ्यास के स्पष्टीकरण के लिए पर्याप्त सामग्री होनी चाहिए।

जल्दी से जल्दी रिवीजन : ज्यादातर अक्सर उम्मीदवार पूरे पाठ्यक्रम को कवर करने के लिए इंतजार नहीं करते हैं और फिर संशोधित करना शुरू करते हैं। हालांकि, गणित जैसे विषय के साथ, अवधारणाओं पर अपनी पकड़ बनाए रखने के लिए, आपको नियमित अंतराल पर संशोधन करना होगा। यह आपके समय को भी बचाएगा जब आप संशोधन के पूर्ण दौर के लिए बैठते हैं। इसलिए तैयारी योजना बनाते समय उम्मीदवारों को संशोधन के लिए पर्याप्त समय की अनुमति देनी चाहिए।

Check JEE Main Mathematics Syllabus in Detail

जेईई मेन 2020 बी.आर्क सिलेबस

बी. आर्क (B.Arch) पेपर 3 घंटे का होगा और इसमें 3 सेक्शन शामिल होंगे – गणित, एप्टीट्यूड टेस्ट और ड्रॉइंग टेस्ट।

  • गणित खंड पाठ्यक्रम B.E / B. Tech, B. Arch और B. योजना पत्रों के लिए समान है।
  • ड्राइंग टेस्ट और एप्टीट्यूड टेस्ट के लिए पाठ्यक्रम निम्नानुसार है।

Check JEE Main Exam Pattern for B. Plan 

जेईई मेन 2020 कटऑफ

जेईई मेन कट ऑफ 2020 दोनों सत्रों के परिणाम के बाद एनटीए द्वारा जारी किया जाएगा। हालांकि जनवरी 2020 सत्र के लिए परिणाम घोषित किया गया है। इसमें कुल 9,21,261 उम्मीदवार B.E / B. Tech पेपर के लिए पंजीकृत यानी रजिस्टर्ड हुए, जिनमें से 8,69,010 परीक्षा में उपस्थित हुए। पिछले साल के रुझानों का विश्लेषण करें तो जनरल कैटेगरी के लिए जेईई मेन कट ऑफ 89 के आसपास रहने की उम्मीद है जबकि आरक्षित श्रेणियों के लिए कटऑफ 40-75 तक हो सकती है। 100 प्रतिशत वाले उम्मीदवारों की कुल संख्या पिछले वर्ष की तुलना में जेईई मेन 2020 जनवरी सत्र के लिए 15 से 9 तक कम हो गई है।

जेईई मेन 2020 जनवरी सेशन में कटऑफ

वर्ग पेपर 1 के लिए कटऑफ
सामान्य रैंक सूची 89
सामान्य – ईडब्ल्यूएस 78
अन्य पिछड़ा वर्ग (OBC-NCL) 74
अनुसूचित जाति (SC) 54
अनुसूचित जनजाति (ST) 44
पीडब्ल्यूडी 0

जेईई मेन 2020 के लिए कट ऑफ दो प्रकार के होंगे – एडमिशन और क्वालीफाइंग कट-ऑफ। कट ऑफ अंक हासिल करने में सफल होने वाले उम्मीदवारों को जेईई एडवांस में परीक्षा के लिए आवश्यक न्यूनतम अंक हासिल करने होंगे। प्रवेश कट ऑफ के तहत आने वाले न्यूनतम अंक हासिल करने वाले व्यक्ति IIT में प्रवेश के लिए अपनी उम्मीदवारी पेश करने के योग्य बन जाते हैं। लगातार, एनटीए प्रत्येक कॉलेज के लिए सीट-सेवन विंडो के रूप में जोसा (JoSAA) को जारी करेगा। उम्मीदवारों को जेईई मेन के लिए वांछित प्रतिभागी संस्थान के समापन रैंक के बराबर न्यूनतम अंक सुरक्षित करने होंगे।

जेईई मेन 2020 शीर्ष यानी टॉप 2,50,000 क्वालिफ़ायर्स छात्र जेईई एडवांस 2020 के लिए उपस्थित होने के लिए पात्र या योग्य होंगे। गौरतलब है कि साल 2019 में, शीर्ष 2,40,000 जेईई मेन क्वालिफ़ायर्स जेईई एडवांस्ड के लिए बैठने के योग्य थे। आंकड़ों के आधार पर देखा जाए तो इस साल संख्या में 10,000 की वृद्धि की गई है।

Check JEE Main 2020 Cut Off

JEE मेन 2020 कटऑफ को क्लियर करने के टिप्स

जेईई मेन में बढ़ती प्रतिस्पर्धा के साथ, उम्मीदवारों के लिए विशिष्ट लक्ष्य निर्धारित करना आवश्यक है। यहां कुछ अनुभाग-युक्त युक्तियां दी गई हैं, जो सटीक पेपर प्रयास दृष्टिकोण प्राप्त करने में आपकी सहायता कर सकती हैं:

गणित: गणित का स्तर 3 साल से मध्यम रहा है और मैट्रिसेस, वेक्टर 3 डी, निर्धारक जैसे विषय कुछ उच्च स्कोरिंग विषय हैं। हाल के वर्षों में इन अध्यायों से ऊँचाई और दूरी और त्रिकोणमिति के प्रश्न नहीं पूछे गए हैं। यदि परीक्षा के दौरान गणित में 20 प्रश्नों का प्रयास किया जाता है, तो 60-50 सटीकता के साथ एक व्यक्ति 45-50 अंक प्राप्त करने की संभावना रखता है, बशर्ते उम्मीदवार सभी पूर्णांक प्रश्नों (गैर-नकारात्मक प्रश्न) का प्रयास करता है। एकल विकल्प प्रश्नों के बजाय पूर्णांक प्रश्नों का प्रयास करने पर अधिक जोर दिया जाना चाहिए।

भौतिकी: पिछले 5 वर्षों से, भौतिकी सभी का सबसे कठिन खंड रहा है जिसमें बहुत से लम्बे प्रश्न शामिल हैं। पेपर का संख्यात्मक भाग आम तौर पर 11 वीं कक्षा से पूछा जाता है, जबकि वैचारिक भाग ज्यादातर 12 वीं कक्षा से होता है। एक बाद वाले पर अधिक ध्यान केंद्रित करना चाहिए क्योंकि यह तुलनात्मक रूप से स्कोरिंग हिस्सा है। 70% सटीकता के साथ, यदि कोई उम्मीदवार भौतिकी खंड के 15 प्रश्नों का प्रयास करता है, तो वह 30 से अधिक अंक प्राप्त कर सकता है।

केमिस्ट्री: केमिस्ट्री सेक्शन को सबसे आसान माना जाता है, जहां ऑर्गेनिक और इनऑर्गेनिक प्रश्न वैचारिक प्रकार के होते हैं। संबंधित विकल्पों के साथ सीधे पत्राचार के कारण इन सवालों पर अधिक ध्यान दिया जाना चाहिए। यदि कोई उम्मीदवार 80% सटीकता के साथ 22 रसायन विज्ञान के प्रश्नों का प्रयास करने में सक्षम है, तो वह 60 से अधिक अंक प्राप्त कर सकता है।

Check JEE Main 2020 Preparation Tips

जेईई मेन कट ऑफ को प्रभावित करने वाले कारक

जेईई मेन कटऑफ की गणना कई कारकों के आधार पर की जाती है। यहां सबसे महत्वपूर्ण कारक हैं जो प्रत्येक वर्ष जेईई मेन कट को प्राप्त करने में मदद करते हैं:

  • परीक्षा में कुल परीक्षार्थी उपस्थित हुए
  • परीक्षा की कठिनाई का स्तर
  • उपलब्ध सीटों की संख्या
  • कुल मिलाकर उम्मीदवार का प्रदर्शन

क्या JEE Main 2021 जनवरी की परीक्षा में कोई देरी होगी?

क्या जेईई मेन और एडवांस 2020 के स्थगित होने का प्रभाव 2021 में होने वाली परीक्षा पर होगा? मतलब क्या JEE 2021 परीक्षा प्रभावित होगी ये बड़ा सवाल है? राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी (NTA) ने COVID-19 के कारण JEE Main 2020 अप्रैल सत्र की परीक्षा को पहले 18 से 23 जुलाई तक के लिए स्थगित किया जिसके बाद अब ये परीक्षा सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद सितंबर में आयोजित होगी। लेकिन परीक्षा के स्थगित या देरी से होने के कारण, जो छात्र JEE Main 2021 जनवरी सत्र की परीक्षा में शामिल होना चाहते हैं, उनके पास बहुत सारे प्रश्न और प्रश्न हैं। सवाल ये है कि क्या जेईई मेन 2021 की परीक्षा अपने सही समय पर होगी या नहीं। या जेईई मेन 2021 को भी स्थगित किया जाएगा ?; क्या परीक्षा सामान्य अनुसूची के अनुसार जनवरी में आयोजित की जाएगी? और बहुत सारे सवाल।

जेईई मेन 2021 जनवरी सत्र से संबंधित इन सभी प्रश्नों का उत्तर जानने के लिए जब हमनें अहम जानकारी इकट्ठा की। इसमें हमने पाया कि एनटीए सामान्य शेड्यूल के अनुसार जनवरी में जेईई मेन 2021 परीक्षा आयोजित करना चाहता है। लेकिन यह वास्तव में COVID-19 स्थिति पर निर्भर करेगा कि परीक्षा अपने सही यानी निर्धारित समय पर होगी या नहीं। दरअसल कोरोना महामारी को देखते हुए वर्तमान में, यह गारंटी नहीं दी जा सकती है कि परीक्षा केवल जनवरी में आयोजित की जाएगी। एनटीए के अधिकारियों के मुताबिक जनवरी में जेईई मेन परीक्षा आयोजित करते हैं क्योंकि बोर्ड परीक्षाएं मार्च में आयोजित की जाती हैं और छात्रों को अपनी बोर्ड परीक्षाओं की तैयारी के लिए भी समय मिलता है। इसलिए, यदि COVID-19 के कारण स्थितियां और खराब हो जाती हैं और बोर्ड परीक्षा भी स्थानांतरित कर दी जाती है, तो निश्चित रूप से JEE Main 2021 जनवरी सत्र की परीक्षा भी स्थगित हो जाएगी। वर्तमान में, सब कुछ जेईई मेन 2020 परीक्षा के सफल संचालन पर निर्भर करेगा।

जेईई मेन 2021 का सिलेबस को कम किया जाएगा?

एनटीए के अधिकारियों की माने तो JEE Main 2021 के सिलेबस पर चर्चा चल रही है क्योंकि HRD मंत्री पहले ही CBSE सिलेबस को कम करने की घोषणा कर चुके हैं। हम सभी बोर्डों से परामर्श करेंगे और फिर परीक्षा के सिलेबस को कम करने का निर्णय लेंगे। उम्मीदवारों को परीक्षा के लिए पाठ्यक्रम की चिंता नहीं करनी चाहिए क्योंकि सभी बदलाव स्थिति को देखते हुए किए जाएंगे और हम छात्रों को किसी भी मुश्किल स्थिति में नहीं डालेंगे।

कुल मिलाकर देखा जाए तो फिलहाल स्कूल और कॉलेज सभी बंद हैं और इंजीनियरिंग और मेडिकल प्रवेश परीक्षा को कोरोना वायरस महामारी के कारण स्थगित कर दिया है। इसलिए जेईई मेन 2021 परीक्षा के लिए छात्रों में भ्रम की स्थिति अभी भी बनी हुई है। ग़ौरतलब है कि हर साल जेईई मेन परीक्षा दो चरणों में आयोजित की जाता है: जनवरी और अप्रैल। लेकिन इस साल कोविड-19 संक्रमण के चलते अप्रैल 2020 में होने वाली परीक्षा को पहले ही दो बार स्थगित किया गया था और अब लॉकडाउन के कारण सितंबर के पहले हफ्ते में परीक्षा को आयोजित किया जाना है। हालांकि सवाल जेईई मेन जनवरी 2021 का है इसलिए नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) स्कूलों और कॉलेजों के फिर से शुरू होने के बाद JEE main 2021 परीक्षा की समीक्षा कर निर्धारित समय को लेकर फैसला करेगा।

जेईई मेन 2021 की तैयारी के टिप्स

अब, जब आप जेईई मेन 2021 परीक्षा के पाठ्यक्रम के बारे में नहीं जानते हैं; यह नहीं जानते कि यह सामान्य कार्यक्रम के अनुसार आयोजित किया जाएगा या नहीं, परीक्षा की तैयारी और भी कठिन हो जाती है। यहां, हम कुछ JEE Main 2021 की तैयारी के टिप्स प्रदान कर रहे हैं जो आपको परीक्षा के लिए तैयार रहने में मदद करेंगे जो भी परिस्थितियां हों।

महत्वपूर्ण विषयों को चुने– हालांकि आप सटीक जेईई मेन 2021 के पाठ्यक्रम के बारे में नहीं जानते हैं, आप परीक्षा के महत्वपूर्ण विषयों की तैयारी शुरू कर सकते हैं। जिन विषयों में पिछली परीक्षाओं में अधिक वेटेज देखा गया है, उन्हें लिया जाना चाहिए और उनका अध्ययन किया जाना चाहिए।


2 Comments

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *